Banner

लो फिर भिड़े कांग्रेसी अब शैलेश पांडे की अभय नारायण से हुई तू तू मैं मैं*

# 06 Nov, 2018 *लो फिर भिड़े कांग्रेसी अब शैलेश पांडे की अभय नारायण से हुई तू तू मैं मैं* भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में बिलासपुर में प्रत्याशी को लेकर मनमुटाव का खेल धीरे धीरे गहरा होते आते जा रहा है। कल की ही बात है कि जिला कांग्रेस कमेटी की बैठक में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अशोक अग्रवाल मैप प्रत्याशी शैलेश पांडे को आड़े हाथों लेते हुए खूब खरी-खोटी सुनाई नौबत झूमा झटके की भी आ गई वह तो कुछ लोगों ने बीच-बचाव किया वरना हालात कुछ और ही हो सकते थे। बिलासपुर से कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव जोकि बिलासपुर से कांग्रेस की दावेदारी में सबसे आगे थे उन्होंने भी कल पार्टी की बैठक में राहुल गांधी के फार्मूले पर सवालिया निशान लगाते हुए कुछ ही महीनों से पार्टी में शामिल हुए बाहरी आदमी को टिकट देने पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए खुद को ही पैराशूट बता मारा। शाम ढलते ढलते एक अन्य टिकट के दावेदार तरु तिवारी ने खुलेआम सोशल मीडिया में लिखा कि शिक्षाविद के रूप में सबसे योग्य वे है हमने टिकट के लिए विधिवत आवेदन किया था आवेदक ओर से हटकर यदि घर बाहरी आदमी को टिकट दे दी गई है जो कांग्रेस की संस्कृति और सम्मान को भी नहीं जानता विज्ञापन देकर और नौटंकी बाजी करा कर कोई भला कैसे चुनाव निकाल सकता है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अभय नारायण और प्रत्याशी शैलेश पांडे भी आज फिर आमने-सामने हो गए। केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली की प्रेस कॉन्फ्रेंस में पार्टी कार्यालय में अव्यवस्था का माहौल था। आलम ये था कि केंद्रीय मंत्री को पत्रकारों से बातचीत करने में अपनी ही पार्टी के कार्यकर्ताओं के हो हल्ले के कारण बेहद तकलीफ हुई। पूर्व केंद्र मंत्री वीरप्पा मोइली के जाते ही प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय और कांग्रेस के प्रत्याशी शैलेश पांडे के बीच तनातनी हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया गले पढ़ो की आदत से परेशान अभय नारायण ने प्रत्याशी शैलेश पांडे को झिडकते हुए कहा कि ज्यादा गले पड़ने की आवश्यकता नहीं है बेहतर होगा जा कर के अपना चुनाव प्रचार संभाले। अभय नारायण राय ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली की प्रेस कॉन्फ्रेंस हैं और वे प्रदेश के प्रवक्ता हैं जिसकी उन्हें सूचना ही नहीं है जहां बिल्कुल भी ठीक नहीं है। टिकट मिलने के 1 दिन में यह हाल है तो जाने आगे क्या होगा। शैलेश पांडे और उदय नारायण की भी स्थिति में हमें को कांग्रेस पार्टी कार्यालय में उपस्थित जिला अध्यक्ष विजय केशरवानी सहित सारे कांग्रेस के नेता मौन होकर देखते रहे। अव्यवस्था और अनिश्चितता का माहौल कांग्रेसमें इतना हावी हो चुका है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री की प्रेस कॉन्फ्रेंस में रुस्त पत्रकारों के बहिष्कार की चेतावनी पर जिला कांग्रेस के पदाधिकारियों को माफी मांगते हुए हैं कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को जमकर फटकार लगानी पड़ी पत्रकारों से क्षमा याचना की गई तब जाकर कहीं प्रेस वार्ता पूरी होने में पत्रकारों का सहयोग मिला।
Banner